किसान आंदोलन: गांव में जाने से बच रहे हैं सीएम

मुंबई:किसानों में बीजेपी सरकार के खिलाफ उपजे असंतोष और किसान संघर्ष समिति द्वारा मंत्रियों को गांव में न घुसने देने की घोषणा के बाद ऐसा कहा जा रहा है कि मुख्यमंत्री ग्रामीण क्षेत्रों का दौरा टाल रहे हैं।
मुख्यमंत्री को कल जलगांव के दौरे पर जाना था, लेकिन ऐन वक्त पर उन्होंने यह दौरा रद्द कर दिया। हालांकि गुरुवार देर रात तक मुख्यमंत्री के दौरे की तैयारी चल रही थी। प्रशासन ने भी पूरी तैयारी कर रखी थी। इससे पहले मुख्यमंत्री अहमदनगर जिले का दौरा भी इसी तरह ही रद्द कर चुके हैं। बता दें कि अहमदनगर वर्तमान किसान आंदोलन का एक बड़ा केंद्र बना हुआ है। जबकि जलगांव में भी किसान आंदोलन का रूख काफी तेज रहा है।
हालांकि मुख्यमंत्री कार्यालय के एक अधिकारी का कहना है कि मुख्यमंत्री ने शुक्रवार को मुंबई में किसान समस्या के समाधान के लिए विशेष बैठक आयोजित की थी। इसी बैठक के बाद किसानों की कर्ज माफी और अन्य मांगों के समाधान के लिए एक उच्चाधिकार प्राप्त मंत्री समूह का गठन किया गया है। इसलिए उनका जलगांव दौरा स्थगित करना पड़ा।
वहीं मुख्यमंत्री के एक करीबी का कहना है कि अगर किसान कहीं मुख्यमंत्री के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करते हैं और यदि पुलिस के समक्ष बल प्रयोग की नौबत आ जाती हैं तो बात ज्यादा बिगड़ सकती है। इसलिए हो सकता है कानून और व्यवस्था के लिहाज से यह फैसला लिया गया हो।
बता दें कि गुरुवार को अमरावती में आंदोलनकारी किसानों ने राज्य के वित्त मंत्री सुधीर मुनगंटीवार की कार पर प्याज फेंक कर और उनकी कार के सामने दूध उंडेल कर उनका विरोध किया था। कुछ आंदोलनकारी किसानों ने उनकी कार के बोनट पर चढ़ने का प्रयास भी किया था।

संदर्भ पढ़ें
खबर विस्तार से पढ़ें
दोस्तों संग शेयर करें
जबसे आपने पढ़ा हैं तो UC News डाउनलोड करें
हॉट कमैंट्स
और कॉमेंट्स पढ़े
--
नहीं
हां
विषय
# सुनिए वित्तमंत्री जी- बेरोजगारी की समस्या के हल के लिए जेटली जी को इस बजट में क्या कदम उठाने चाहिए?
देश में बेरोजगार युवाओं की ताताद में लगातार वृद्धि हो रही है. ऐसे में वित्तमंत्री को इस बजट में ऐसा क्या करना चाहिए जिससे इस समस्या का निदान हो. कमेंट बॉक्स में शेयर करें अपनी राय
5 / 2,259
ऐसा truck हादसा देखकर आपकी रूह काँप जाएगी